Latest News

50 km लम्बी मानव श्रंखला में शामिल होंगे एक लाख लोग , नगर निगम देहरादून का अनोखा आयोजन पांच नवंबर को ..

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संकल्प पूरा कर रहा दून नगर निगम | पहले घर घर पहुंचाई पोलिथिन प्रयोग बंद करने की अपील | स्कूलों और बाज़ारों में आम जनता को किया मिशन में शामिल | अब तैयारी है सबसे बड़ी मानव श्रंखला बनाने की…. पचास […]
1 month ago

पहाड़ का ऐसा गाँव जहां देवताओं से पहले होती है मटियाल देवता की पूजा

मिशन मेरा गाँव आपको एक ऐसे गाँव ले चलेगा जहां जंगल को देवता के रूप में पूजा जाता है। उत्तरकाशी से 46 किलोमीटर दूर स्थित डुंडा ब्लाक में एक गांव है, जिसका नाम मट्टी है। आपको भले सुनकर अजीब लगे लेकिन यहां लोग जंगल को […]
1 month ago

बड़े बड़ों को अपनी बाइक राइडिंग से हैरान कर रही चैंपियन सुचेता

उत्तराखंड की बेटी चाहे पहाड़ के दुर्गम गाँव में हो या देश के किसी भी हिस्से में …वो जहां भी रहती हैं अपने हौसले से नई सफलता जरूर रचती है…आज आपके साथ बात बाइकर सुचेता से …..जिसने थोड़े समय पहले ही विश्व की सबसे ऊंची […]
1 month ago

राष्ट्रपति कोविन्द ने IITan वशिष्ठ को आखिर क्यों दिया गोल्ड मैडल

उत्तराखंड के रुड़की में गरीब बच्चों को मुफ्त में पढ़ाने वाले आईआईटी रुड़की के एक छात्र अनंत वशिष्ठ को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वर्ण पदक देकर सम्मानित किया। अनंत को ये गोल्ड मेडल यूथ लीडरशिप के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए मिला है। अनंत […]
1 month ago

माधुरी दीक्षित के किस अभिनय से प्रभावित उत्तराखण्डी महिला ने बनाया अपना गैंग ?

आपने गुलाब गैंग के बारे में जरुर सुना होगा अगर नहीं सुना है तो हम आपको यहाँ बता देते हैं कि आखिर गुलाब गैंग है क्या? बुंदेलखंड की महिला सामाजिक कार्यकर्ताओं से प्रेरित है। बुंदेलखंड के बांदा जिले के गुलाबी गैंग ने महिला सशक्‍तीकरण के […]

मलेशिया में बिक रहे उधमसिंह नगर की महिलाओं के बनाए उत्पाद..गाँव को मिल रही पहचान

मन में इच्छाशक्ति हो तो कोई भी काम मुश्किल नहीं….जी हां उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर जिले की थारू जनजाति की महिलाओं ने इसी कहावत को सही साबित किया है और बेरोजगार युवाओं के लिए मिसाल कायम की है। यहां की महिलाओं के बनाए फूलदान, श्रृंगार […]

उत्तराखंड की 40 ग्रामीण महिलाओं के किस हुनर का कद्रदान है विदेशी पर्यटक ?

फिल्म सुई धागा तो आपने देखी ही होगी इस फ़िल्म के किरदार भले काल्पनिक रहे हों लेकिन उत्तराखंड के ज्योलीकोट की महिलाओं का असली किरदार यही है जिसको जानकर आप भी फक्र करेंगे….सुई धागे से बटन लगाने से काम शुरू कर यहां की 40 महिलाओं […]

पहाड़ी गहनों और पारंपरिक ड्रेस की दुनियाभर में हैं अलग पहचान

हम जो कपड़े या पारंपरिक वेशभूषा इस्तेमाल करते हैं अक्सर वही हमारी संस्कृति का आईना होते हैं। हर राज्य की अलग पहचान है अलग रंग रूप है….उत्तराखंड की पहचान अगर खूबसूरत पहाड़ों से होती है तो यहां के गाँव में आज भी पहने जाने वाले […]

उत्तराखंड में 260 सालों से जल रही प्रलय का समय बताने वाली लौ

12 ज्योतिर्लिंगों में 8वां ज्योतिर्लिंग कहलाने वाले जागेश्वर में आज भी 125 मन्दिर समूहों के प्रमुख मन्दिर में कुमाऊ के चन्द वंशज राजा दीपचन्द का अखण्ड दीप सहस्त्रों बर्षों से जल रहा है। अपने पिता कल्याण चंद के अराजक शासन काल के पश्चात् अवयस्क राजा […]

आखिर किस मकसद से पहाड़ी नौजवानों को अपना दगडी बना रहे भुवन उत्तराखण्डी

भुवन चतुर्वेदी जी हां मिशन मेरा गाँव के इस लेख में आज हम आपकी मुलाकात skillzone फाउंडर, स्किल ट्रेनर ,मेंटर फॉर पहाड़ी युथ यानी भुवि दा से करा रहे हैं…. किसी आम पहाड़ी की तरह सरलता सादगी के साथ अपने दिलो-दिमाग में अपने गाँव के […]

टकाना कैफ़े…. उत्तराखंड की पहली महिला Tea Shop… आर्थिक मजबूती का अनूठा प्रयोग

आपने अक्सर सड़कों और हाईवे पर चाय पी होगी..ढाबों और रेस्टोरेंट में मैगी का आर्डर बीबी दिया होगा….तब आपका सामना male कर्मचारियों से होता होगा…लेकिन पिथौरागढ़ की महिलाओं ने घर की रसोई से बाहर निकलकर एक अनूठा काम किया है और अपने आर्थिक निर्भरता को […]

चीन सीमा पर एक गाँव, हज़ारों महिलाएं और रंगबिरंगी कामयाबी

आज बात बागेश्वर जिले के दुर्गम पहाड़ी इलाके दिगोली में अवनि संगठन की करेंगे जिन्होंने एक ऐसा रास्ता चुना जिसकी सफलता ने लोगों को उम्मीद की एक नई रोशनी दिखा दी। लगभग 200 हिम्मती महिलाएं पहाड़ के कई गाँव से इकठ्ठा हो कर एक समूह […]

मिलिए पहाड़ में जंगल की अनोखी मां से, जिसने दिया हज़ारों पेड़ों को जन्म

उत्तराखंड की महिलाओं ने हमेशा पहाड़ और जंगलों की सबसे ज्यादा सेवा की है … कभी नदियों को बचाने के लिए कभी पेड़ों को सहेजने के लिए उत्तराखंड में आंदोलन हुए तो महिलाओं की भागीदारी सबसे आगे सबसे ज्यादा रही है…प्रभादेवी सेमवाल एक ऐसी ही […]

इस पहाड़ी गाँव में मर्दों का नहीं औरतों का है बोलबाला…आखिर क्यों ?

उत्तराखंड राज्य का निर्माण महिलाओं के मजबूत और बुलंद हौसले का सुखद परिणाम रहा है। सांस्कृतिक विरासत हो या सामाजिक मुद्दों पर अगुवाई करना हो ..पलायन से कराहते पहाड़ को यहां की महिलाओं की हिम्मत से ढेरों उम्मीदें हैं। पौड़ी हो या गढ़वाल पहाड़ की […]